अब पाक के कोने-कोने तक कहर बरपाएगी नई ब्रम्होस मिसाइल

नई दिल्ली। अपनी रक्षा प्रणाली को मजबूत करने के लिए भारत रूस के साथ मिलकर नई जनरेशन की ब्रम्होस मिसाइल बनाएगा। इस मिसाइल की रेंज 600 किलोमीटर से कुछ ज्यादा होगी, जिसकी जद में पूरा पाकिस्तान आ जाएगा। इस मिसाइल के आने के बाद भारत की मारक क्षमता और आक्रामक हो जाएगी।

अभी इतनी है ब्रम्होस की ताकत

बता दें कि भारत के पास अभी ब्रह्मोस की रेंज 300 किलोमीटर है, जिससे पाकिस्तान में हर जगह प्रहार करना संभव नहीं है। भारत के पास नई जेनरेशन की ब्रह्मोस मिसाइल से अधिक रेंज की बलिस्टिक मिसाइल हैं, लेकिन ब्रह्मोस की खूबी यह है कि उससे खास टारगेट को तबाह किया जा सकता है। यह पाकिस्तान के साथ किसी टकराव की सूरत में गेम चेंजर साबित हो सकती है।

एमटीसीआर मेंबर बनने से हुआ फायदा

भारत इस साल जून में मिसाइल टेक्नॉलजी कंट्रोल रिजीम (एमटीसीआर) का मेंबर बना था। ऐसे में रूस भारत के साथ मिलकर नई जेनरेशन की ब्रह्मोस मिसाइल बनाने के लिए तैयार है। एमटीसीआर की गाइडलाइंस में कहा गया है कि सदस्य देश 300 किलोमीटर से अधिक रेंज की मिसाइल ग्रुप से बाहर के देशों को ना ही बेच सकते हैं और ना ही उनके साथ मिलकर इन्हें बना सकते हैं।

बैलेस्टिक से कैसे अलग है क्रूज मिसाइल

बैलेस्टिक मिसाइल को आधी दूरी ही गाइड किया जाता है। इसके बाद की दूरी वे ग्रैविटी की मदद से तय करती हैं। वहीं क्रूज मिसाइल की पूरी रेंज गाइडेड होती है। ब्रह्मोस क्रूज मिसाइल है। यह बिना पायलट वाले लड़ाकू विमान की तरह होगी, जिसे बीच रास्ते में भी कंट्रोल किया जा सकता है। इसे किसी भी ऐंगल से अटैक के लिए प्रोग्राम किया जा सकता है।

A Big Vision News Network India

About A Big Vision News Network India

Leave a Reply

*